A riveting poem by Blogger Lokendra Mani Mishra ‘Deepak’ -http://lokendradeepak.blogspot.in/

By
In blog

कुछ बात तो होगी ही …..

 

आपस में एक दूजे से लड़ते कभी नही

नेता हमारे पीछे जो पड़ते कभी नहीं

 

दुनिया हमेशा उसके ही कदमो को चूमती

तिल भर भी जो सच्चाई से टलते कभी नहीं।

 

अपने परों पे चिड़िया का विश्वास देखिये

कारण यही है शाख से गिरते कभी नही।

 

औरो के रास्ते में जो कांटे है बो रहा

राहों में उसके फूल तो खिलते कभी नहीं|

 

कुछ बात तो होगी ही जल रहे चराग़ में

“दीपक”यूँ आँधियों में तो जलते कभी नहीं।

 

-लोकेन्द्र मणि मिश्र “दीपक”

S/o श्री सिद्धेश्वर मिश्र

Contact no: 9169041691

Department of Mechanical Engineering

Ambalika Institute of Management and Technology.

 

PUBLISHED CONTENTS: KADMO’ KE NISHAN , GEETIKALOK, KAVYODAYA-2. Many other Hindi and Bhojpuri poem and articles are published in various hindi- Bhojpuri magazines.

AWARD: GEETIKA SHRI (गीतिका श्री ) award at AKHIL NHARATIYA GEETIKA SAMAROH SULTANPUR, UP.

Co-Editor at Kanchanmedha aadhyatmik patrika.

ब्लॉग : lokendradeepak.blogspot.com